हथेली में निशान और इस तरह की आकृतियां होने का फल

👉 व्यक्ति की हथेली पर कई तरह के निशान और आकृतियां बनी हुई होती हैं । जैसे जीवन रेखा, स्वास्थ्य रेखा और भाग्य रेखा. इन रेखाओं के अतिरिक्त हथेली पर पर्वत भी होते हैं जिनका खास महत्व होता है ।

👉 जिस किसी की हथेली के बीचोबीच घड़ा, पेड़, घोड़ा या  रथ का निशान बना हो, वह व्यक्ति राजयोग के सुख को
प्राप्त करता है । जिस किसी व्यक्ति का माथा चौड़ा और विशाल होता है, साथ ही बांहें लंबी होती हैं । वह व्यक्ति राजसुख का आनन्द लेता है ।

👉 जिसकी हथेली पर धनुष, कमल का फूल या आसन का निशान बना होता है । उसे राजयोग का सुख मिलता है । ऐसा व्यक्ति कोई बड़ा प्रशासक बनता है ।

👉 जिसकी हथेली के मणिबंध से रेखा सीधे शनि पर्वत पर जाकर मध्यमा उंगली पर मिलती हो । उसके जीवन में धन और वैभव की कमी नहीं रहती ।

👉 हथेली पर सूर्य रेखा मस्तक रेखा से मिली हो और मस्तक रेखा गुरु पर्वत की ओर झुकने से चतुष्कोण बना हो, तो वह मुख्यमंत्री या राज्यपाल होता है ।

 👉 हथेली पर गुरु और सूर्य पर्वत में उभार हो या फिर शनि और बुध रेखा बिल्कुल स्पष्ट और सीध में हो, वह व्यक्ति राजयोग का सुख प्राप्त करता है ।

👉 जिसकी हथेली पर हृदय रेखा और मस्तक रेखा के बीच एक चौड़ा चतुष्कोण बना हो तो वह व्यक्ति न्यायाधीश के पद को प्राप्त करता है ।

जीवन रेखा
👉 जीवन रेखा अंगूठे के ठीक नीचे शुक्र पर्वत को घेरे रहती है। यह रेखा इंडेक्स फिंगर के नीचे स्थित गुरु पर्वत से प्रारंभ होती है और हथेली के अंत में मणिबंध की ओर जाती है । जीवनरेखा की लंबाई व्यक्ति की उम्र को दर्शाती है । जीवन रेखा टूटी हुई होती है तो वह अशुभ होती है, लेकिन अगर उसके साथ में कोई अन्य रेखा समानांतर रूप से चल रही हो तो इसका अशुभ प्रभाव खत्म हो जाता है ।

Post a Comment

0 Comments