लग्न के अनुसार करिअर

लग्न के अनुसार करिअर

➤ ज्योतिष में राशि, ग्रह- नक्षत्र, लग्न, भावों की अवस्था, नवमांश चक्र, चन्द्रमा की स्थिति आदि के आधार पर व्यक्ति के व्यवसाय और नौकरी की सटीक भविष्यवाणी की जा सकती है. आइए जानते हैं कुंडली के लग्न से आपके लिए कौन सा करिअर बेहतर रहेगा.

➥ मेष :  मेष लग्न के जातकों को जमीन से जुड़े कार्य जैसे-प्रॉपर्टी, ठेकेदारी, खेलकूद आदि से संबंधित कार्यक्षेत्र से जुड़ने में सफलता मिलती है, लेकिन यदि मंगल दुर्बल हो तथा शनि मजबूत अवस्था में हो तो स्टील, लोहे से जुड़े, खेती तथा सर्जरी आदि से जुड़े औजार आदि का बिजनेस फायदेमंद रहता है.

➥ वृष : इस लग्न का स्वामी ग्रह शुक्र होता है. ऐसे जातकों को लोहे से जुड़े सामान का बिजनेस बड़ा ही शुभ होता है. इंडस्ट्री, ट्रांसपोर्ट, केमिकल, कृषि आदि से जुड़े क्षेत्र में नौकरी करना लाभकारी साबित होता है.

➥ मिथुन : इस लग्न के स्वामी बुध देवता हैं. ऐसे जातक बार-बार अपना कामधंधा बदलते रहते हैं लेकिन यदि आपके जन्मांग में बृहस्पति मजबूत हों तो आप पत्रकारिता, ब्रोकर, वकील, एक्टिंग, सलाहकार आदि का काम कर सकते हैं.

➥ कर्क : इस लग्न का स्वामी चंद्रमा है. इस लग्न से जुड़े जातक राजनीति, समाजसेवा, अध्यापन, इंपोर्ट-एक्स्पोर्ट के क्षेत्र में तरक्की पा सकते हैं.

➥ सिंह: यदि शुक्र बलवान हो तो उसे अभिनय, संगीत, सुगंधित चीजें, मेकअप, काव्य आदि के क्षेत्र में काम करना चाहिए, लेकिन यदि सूर्य बली हो तो खेल का सामान, इलेक्ट्रानिक्स, ठेकेदारी, कपड़े का कारोबार, सोलर ऊर्जा आदि का बिजनेस फल सकता है.

➥ कन्या: इस लग्न में कार्यक्षेत्र का स्वामी बुध होता है. यदि बुध बली हो तो शेयर बाजार, प्रकाशन, कमीशन, स्कूल, धार्मिक कार्य, अस्पताल आदि से जुड़ा कार्य सफलता दिलाता है.

➥ तुला: इस लग्न के कार्यक्षेत्र का स्वामी चंद्रमा होता है. यदि चंद्रमा के साथ शनि बली हो तो जातक राजनीति तथा प्रशासन में अच्छी सफलता पाते हैं.

➥ वृश्चिक:  इस लग्न का स्वामी मंगल है. इस लग्न के जातक को राजनीति में एक जनप्रिय नेता के रूप में भी सफलता मिल सकती है. यदि गुरु बली हो तो गारमेंट्स, कम्युनिकेशन, दूध, तेल आदि के व्यापार में खासे कामयाब हो सकते हैं.

➥ धनु:  इस लग्न के जातक दशमेश बुध की कृपा पाकर एक अच्छे इंजीनियरिंग, ज्योतिष, सलाहकार, शेयर ब्रोकर, राजनेता आदि बन सकते हैं, शनि बलवान हो तो ऐसे तमाम स्रोतों से धन कमाता है.

➥ मकर:  यदि शुक्र बली हो तो इस लग्न के जातक के लिए खान-पान, होटल, टूरिज्म, शराब, चाय आदि का कामधंधा खूब फलता है. यदि शनि बली हो तो जातक को लोहे के व्यापार तथा विदेश के व्यापार में खूब सफलता मिलती है.

➥ कुंभ:  इस लग्न का स्वामी भी शनि होता है. शनि मजबूत हो तो जातक को स्टील, लौह, खनिज, रसायन आदि के व्यापार में खूब तरक्की मिलती है. ऐसे जातक धर्म-अध्यात्म के क्षेत्र में भी सफलता पा सकते हैं.

➥ मीन: मीन लग्न का स्वामी ग्रह गुरु होता है. यदि गुरु बली हो, तो जातक के लिए ठेकेदारी, रियल स्टेट, शिक्षण संस्थान, लेखन, पत्रकारिता आदि का कार्य सफलता दिलाता है.

Post a Comment

0 Comments