मुकेश और ममता की प्रेम कहानी ( A Latest Hindi Love story) PART-2


मुकेश और ममता की प्रेम कहानी ( A Latest Hindi Love story)  PART-2

जीवन में आप भी किसी को प्यार किये होंगे, या फेर करते हैं तो एक बात याद रखियेगा - कभी भी किसी भोले भाले इंसान को धोका मत देना. वो आपके दोस्त हो, यार फिर लड़की या तो कोई लड़का. क्युकी उस्का दुःख भरी बद दुआ आपको लगेगा. और उस बद दुआ का परिणाम इतना भयंकर होगा की आप उसे सहन नहीं कर पाओगे. 

ममता की शादी के बाद मुकेश अकेला हो गया. शादी के बाद भी ममता ने मुकेश को बहुत बार कॉल किया. लेखिन मुकेश ने कभी भी कोई जवाब नहीं दिया. ममता अपनी पति के साथ हनीमून गयी. वहाँ की खींची हुई  तस्बीरे को फसेबूक में पोस्ट करती थी. उस फोटो को देख कर मुकेश को बहुत बुरा लगता था. इसी बजह से ममता को वो ब्लोव्क कर दिया. ममता के साथ जितने तरह के कनेक्शन थे वो सभी को काट दिया. और अपनी पढाई में ध्यान देने लगा. 

मुकेश को कोई एक बड़ा जॉब करने का इच्छा था. वो बैंकिंग कोचिंग छोड़ कर Civil Service के लिए तैयारी किया. और अगले एक साल में OAS पास किया. उसके माँ बाप भी बहुत खुस थे मुकेश की कामियाबी को देख कर. हालाकि प्यार में फेल होने के बाद लोक बर्बाद हो जाते हैं. नसा और जुआ को अपना लेते हैं. पागल की तरह दुसरो के लिए अपना जीवन बर्बाद कर देते हैं. लेकिन मुकेश ने ऐसा कुछ भी नहीं किया. बल्कि उकसी कमजोरी को खुदका ताकत बनाया और अच्छे से पढाई किया. उसके बाद एक अच्छी लड़की से उसका शादी हो गयी. वो लड़की भी OAS थी. एक शाल बाद मुकेश की घर में एक बेटी जन्म हुई. आज मुकेश अपनी परिवार के साथ खुशाल ज़िन्दगी जी रहा हैं. 

कहते हैं ना पति और पत्नी एक मुद्रा का दो साइट होते हैं. पति पत्नी को भारतीय वेद पुराण के असुसार भी  आधे आधे माना जाते हैं. इस लिए पत्नी को अर्धांगिनी कहते हैं. ममता की पापो की  परिणाम उसे भुगतनी तो  थी जरूर. इस बिच ममता की तलाक हो गयी. और वो अकेली हो गयी. उसके पापा इस सदमे को सहन नहीं कर पाए. और वो भी चल बेस. आज घर में ममता और उसकी बूढ़ी माँ रहते हैं. ममता दर दर भटकते हुए जॉब की तलाश कर रही हैं. 

आज उसे पता चल गयी हैं की जो भी असुबिधा का वो सम्मुखीन हो रही हैं वो उसकी पिछले पापो का परिणाम हैं. 

दोस्तों आजकल की दुनिया में एक अच्छे लड़के को अच्छी लड़की या फिर कोई अच्छी लड़की को अच्छे लड़का मिलना ना मुमकिन की बराबर है. दुनिया में अगर हाथ में पैसा ना हो तो कुछ ख़रीदा नहीं जा सकता लेखिन ये भी सच हैं की पैसा देके सब कुछ ख़रीदा जा सकता हैं लेकिन खुसिया नहीं. मुकेश के पास उस समय पर अच्छा जॉब नहीं था लेखिन एक अच्छा दिल था. और पढाई की डिग्री भी थी. एक-ना-एक-दिन वो जॉब तो जरूर करता लेकिन पैसे के लिए ममता ने मुकेश को छोड़ दिया और पैसे वाले से शादी की. लेकिन उसकी वो पैसे की खुसी ज्यादा देर तक ना टीकी. प्यारे दोस्तों प्यार को कभी पैसे से मत तौले. ये आपसे हमारी बिनती हैं.  


लेखक - जितेंद्र सेठ (Admin of loveodia.com)

Post a Comment

1 Comments