स्किल्स में बनाएं अपना भविष्य

स्किल्स में बनाएं अपना भविष्य

⧭ भारत में कई यूनिवर्सिटी और शिक्षण संस्थान हैं जहां से पढ़ाई के साथ-साथ कौशल के क्षेत्र में खद को निखारने और कोर्स के तुरंत बाद नौकरी के अवसर उपलब्ध होते हैं. देश में ऐसे कई संस्थान हैं जो कौशल प्रमाणपत्र से लेकर स्नातक, परास्नातक और पीएचडी तक के कार्यक्रम प्रदान करते हैं.

➤ पॉलीमैकेनिक स्किल्स

मशीनिंग, टर्निंग, मिलिंग, ग्राइंडिंग, हैंड स्किल्स, एसेम्बलिंग, पेनामेटिक्स, न्यूमेटिक्स, प्रोग्रामिंग और ऑपरेशन आदि. पॉलीमैकेनिक में कुशल लोग प्रोडक्शन मशीनरी और उपकरणों के लिए पार्टस् इंस्टाल कर सकते हैं.

इस पेशे में लॉजिक और आटोमेशन कंट्रोल की जरूरत होती है, साथ ही, संबंधित बुनियादी विद्युत और सर्किट वाले काम में कौशल की आवश्यकता होती है. पॉलीमैकेनिक डिग्री में बी.वोक. डिग्रीधारी कई तरह के विनिर्माण कौशल में प्रशिक्षित होते हे संबंधित उद्योग में आसानी से काम करने में सक्षम हैं. इन सब के आधार पर उनको टैक्नीशियन, प्रैक्टिशनर और सुपरवाइजर के रूप में नियुक्त किया जा सकता है.
➤ IT और नेटवर्किंग

हार्डवेयर स्किल्स छात्रों को सूचना भंडारण, प्रसंस्करण और संचार के क्षेत्र में प्रशिक्षण मिलता है. आईटी और नेटवर्किंग कौशल में बी.वोक. के तहत कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सकते हैं. नेटवर्किंग कंस्ट्रक्शन, नेटवर्क का उपयोग और प्रबंधन, जिसमें हार्डवेयर (केबल बिछाने, हब, पुल, स्विच, रूटर आदि) भी शामिल है. टेलीकम्युनिकेशन प्रोटोकॉल और सॉफ्टवेयर का चुनाव व इस्तेमाल, नेटवर्क का उपयोग और इस्तेमाल व ऑपरेशन नीतियों की स्थापना आदि. एक नेटवर्क आर्किटेक्ट में सभी कर्मचारियों के इस्तेमाल के लिए नेटवर्क सिस्टम बनाने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग करने जैसे कौशल का होना जरूरी है.

➤ एयर होस्टेस

एयर होस्टेस के रूप में आप एक बेहरीन करिअर बना सकते हैं इसके साथ ही इसमें पैसा भी अच्छा मिलता है. एयर होस्टेस बनने के लिए-

फिजिकल रूप से फिट घंटों तक चेहरे पर मुस्कान
 अप्रोच, प्रेजेंस ऑफ माइंट पॉजिटिव एटीट्यूड
 गुड सेंस ऑफ ह्यूमर

Post a Comment

0 Comments