अशुभ मंगल तो बच्चा जिद्दी - क्रोध को शांत करने का उपाय

अशुभ मंगल तो बच्चा जिद्दी - क्रोध को शांत करने का उपाय

नवग्रह में सबसे क्रूर मंगल ग्रह को माना जाता है. ज्योतिष के अनुसार जिस व्यक्ति पर मंगल का अशुभ प्रभाव होता है उनके स्वभाव में कई तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं. खासतौर पर अगर बच्चों पर इनका नकारात्मक असर होता है तो वो बहुत जिद्दी किस्म के हो जाते हैं. मंगल बच्चों को जिद्दी स्वभाव का बनाता है. ज्योतिष के अनुसार, मंगल और राहु के खराब होने के कारण बच्चा नकारात्मक जिद करने लगता है. इसके अलावा जिन लोगों का मंगल खराब होता है उनका 28 से 48 साल तक का समय अच्छा नहीं माना जाता. तो वहीं राहु के खराब होने से 36 से 52 साल की उम्र तक समय खराब हो जाता है.

चांदी का करें अधिक प्रयोग

'मंगल और राहु की खराब स्थिति को ठीक करने के लिए जातक को चांदी के चीज़ों का अधिक प्रयोग करना चाहिए. संभव हो तो चांदी धारण करें. इसके अलावा कहा जाता है कि मंगल और राह की स्थिति होने पर अगर जातक चांदी के ग्लास में पानी पीता है, तो उसका मन शांत रहता है. इसके अतिरिक्त बच्चे के दूध में अश्वगंधा मिलाकर देने से भी स्वभाव में सकारात्मक परिणाम देखने को मिलता है.

क्रोध को शांत करने का उपाय

ज्योतिष में क्रोध का कारण मंगल, शनि, राह खराब होना माना जाता है. तो अगर आपके बच्चों को अधिक क्रोध आता है तो ऐसे बच्चों के लिए शनिवार के दिन जौ को चम्मच में लेकर दूध से धोने के बाद बहते हुए पानी में बहा दें. ध्यान रखें कि इस उपाय को सूर्यास्त के ठीक 48 मिनट बाद ही करना चाहिए.


Post a Comment

0 Comments